Share On Whatsapp





Share On Whatsapp





Share On Whatsapp




साथ अगर दोगे तो मुस्कुराएंगे ज़रूर;
प्यार अगर दिल से करोगे तो निभाएंगे ज़रूर;
कितने भी काँटे क्यों ना हों राहों में;
आवाज़ अगर दिल से दोगे तो आएंगे ज़रूर।
Share On Whatsapp




कितना समझाया दिल को कि तु प्यार ना कर;
किसी के लिए खुद को बेक़रार ना कर;
वो तेरे लिए नहीं है नादान;
ऐ पागल किसी और की अमानत का इंतज़ार ना कर!

Share On Whatsapp




तुम ने चाहा ही नहीं हालात बदल सकते थे;
तेरे आाँसू मेरी आँखों से निकल सकते थे;
तुम तो ठहरे रहे झील के पानी की तरह;
दरिया बनते तो बहुत दूर निकल सकते थे।

Share On Whatsapp




इंतजार किस पल का किये जाते हो यारों;
प्यासों के पास समंदर नही आने वाला;
लगी है प्यास ​तो ​चलो रेत निचोड़ी जाए​;​
अपने हिस्से में समंदर नहीं आने वाला​।

Share On Whatsapp




मोहब्बत परवाह और थोड़ा वक्त,
यही वो दौलत है जो अक्सर हम तुमसे माँगते हैं..!
Share On Whatsapp




DMCA.com Protection Status